Local Public Affair

अमित शाह ने चरौदा में किया 1 लाख महिलाओं को सम्बोधित , कहा “मातृशक्ति एक बार फिर राज्य में बनाएगी बीजेपी की सरकार”

Written by newsbreaklive

छत्तीसगढ़ दौरे पर पहुचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने चरौदा में एक लाख महिलाओं के सम्मेलन को संबोधित किया। सम्मलेन में अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने सीडी मामले पर कांग्रेस को निशाने में रख के कहा कि “जिन्होंने गंदे काम किए उन्हें छाती पर चिपकाकर कांग्रेस पार्टी घूम रही है। चुनाव में कांग्रेस को हराना नहीं है। सिर्फ हराने से काम नहीं चलेगा, बल्कि हमें कांग्रेस को मूल समेत समाप्त करना है। यह काम मातृशक्ति करेगी। यह संकल्प लेकर चलना होगा। सीडी की राजनीति करने वाली कांग्रेस को जवाब मातृशक्ति देगी। छत्तीसगढ़ माता कौशल्या की नगरी है। भगवान राम ने भी जन्म लिया तो छत्तीसगढ़ की माता कौशल्या की कोख से। यहां की मातृशक्ति एक बार फिर राज्य में बीजेपी की सरकार बनाएगी।”

अमित शाह ने आगे कहा कि “छत्तीसगढ़ चुनाव की दहलीज पर खड़ा है। एक ओर मोदी-रमन का नेतृत्व है, तो दूसरी ओर सीडी बेचने वाले नेताओं की कांग्रेस पार्टी। ” अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि “मैं पूछना चाहता हूं कि किसके नेतृत्व में आप सरकार चाहते हैं। सीडी बेचने वालों का नेतृत्व चाहिए या फिर विकास का संकल्प लेकर काम करने मोदी-रमन का नेतृत्व। छत्तीसगढ़ में रमन सिंह ने यदि सबसे बड़ा कोई काम किया है, तो राज्य को नक्सलवाद से मुक्त कर शांत राज्य बनाने का है। जब नक्सलवाद बढ़ता है, तो कानून की स्थिति ठीक नहीं होती। इसकी सबसे बड़ी कीमत चुकानी होती है, तो माताओं-बहनों को, लेकिन मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अपनी जान की परवाह किए बगैर माओवादी समस्या का खात्मा करने को एक चुनौती के रूप में लिया।”

अमित शाह ने रमन सिंह की पीठ थपथपाते हुए कहा कि “छत्तीसगढ़ में महिला सशक्तिकरण की दिशा में ढेरों काम हुए हैं। रमन सरकार में शिशु मृत्यु दर में कमी आई। 76 फीसदी से घटकर 39 फीसदी हो गयी है। मातृ मृत्यु दर 365 से गिरकर 173 हो गयी है। कुपोषण की दर 52 फीसदी से घटकर 20 फीसदी तक जा पहुंची है। रमन सरकार ने मातृ शक्ति को सशक्त किया है।”

शाह ने महिलाओं को माँ के रूप में रख के कहा कि “बीजेपी सरकार की हर योजना का केंद्र बिन्दु मातृशक्ति है। परिवार में कोई भूखा सोता है, तो मां को सबसे ज्यादा चिंता होती है। रमन सिंह ने चावल देकर हजारों-लाखों महिलाओं के आंखों से आंसू पोछने का काम किया है। रमन सिंह यदि जीतते है, तो कुशल नेतृत्व की वजह से जीतते हैं। अच्छे काम की वजह से जीत होती है। हजारों माताओं का आशीर्वाद रमन सिंह के साथ है।”

इसी कड़ी में शाह ने आगे कहा कि “33 सालों से मैं सार्वजनिक जीवन में काम कर रहा हूं। कई सभाएं-रैलियां देखी है, लेकिन मेरे जीवन में देखा गया मातृशक्ति का यह सबसे बड़ा महाकुंभ है। उन्होंने कहा मैं विश्वास लेकर दिल्ली जाऊंगा कि अब चुनाव बाकी नहीं रह गया है, केवल चुनाव की फार्मेलिटी रह गई है। मातृशक्ति की ताकत को मैं जानता हूं। एक मां-बहन को हम जब कार्यकर्ता बनाते हैं, तो पूरा परिवार कार्यकर्ता बन जाता है। छत्तीसगढ़ की ये वीरंगनाएं बीजेपी की जीत सुनिश्चित करेंगी। ”

अमित शाह ने महिलाओं के सशक्तिकरण पर बोलते हुए कहा कि “जब केंद्र में मोदी सरकार आई। नौ महिलाओं को कैबिनेट मंत्री बनाकर नारी शक्ति को सम्मान दिया। आजादी के बाद से भी केंद्र सरकार में नौ महिलाएं एक साथ मंत्री नहीं रही। ”

इस मौके पर अमित शाह ने तीन तलाक कानून का जिक्र करते हुए कहा कि “महिलाएं असहाय हो जाती थी। मोदी सरकार ने कहा कि यह इस देश में नहीं चलेगा। ट्रीपल तलाक को खत्म करने का बिल लाया गया। कांग्रेस ने इसका विरोध किया। ट्रीपल तलाक का विरोध नहीं था, यह मातृशक्ति को अपमानित करने जैसा था। ”

अमित शाह ने अपने सम्बोधन में कांग्रेस की एक एक बात पर निशाना साधा। अमित शाह का कहना है कि कांग्रेस महिलाओं के लिए नहीं बल्कि महिलाओं के विपरीत काम करती है। शाह का कहना है कि कांग्रेस ने हमेशा महिलाओं का अपमान किया है।

अमित शाह का छत्तीसगढ़ दौरे पर आना और महिलाओं को यूं संबोधित करने से बीजेपी को चुनाव में फ़ायदा हो सकता है , अगर विपक्ष की बात करें तो जनता कांग्रेस पर भरोसा नहीं कर पा रही है , जनता को लगता है की कांग्रेस लोगों से ज्यादा सीडी पर अपना ध्यान रख रही है। एक के बाद एक कांग्रेस को मिले झटके से इस बार का चुनाव और भी दिलचस्प होने वाला है। वही दूसरी और आप पार्टी का राष्ट्रीय लोकतान्त्रिक पार्टी से गठबंधन भी कांग्रेस को भारी पड़ सकता है। अब इस चुनाव में देखना ये है कि किसका पलड़ा भारी पड़ता है।

About the author

newsbreaklive

Leave a Comment

four × 4 =